Types of blood group in hindi – ABO and Rh- Blood Group

दोस्तों यदि आपको चोट लग जाए ओर Blood की आवश्यकता हो तो क्या आप मेरा Blood ले सकते हो ? कौन सा व्यक्ति आपको ब्लड दे सकता है या फिर आप किस व्यक्ति को आप ब्लड Donate कर सकते है ? हम किसी भी व्यक्ति का ब्लड क्यों नहीं ले सकते है ?

इस प्रकार के सभी प्रश्न जो आप के MIND मे आ रहे है का जवाब  हम आपको इस टोपिक types of blood group in hindi मे मिल जायेगे

हमारा यह कंटेन्ट बहुत ही यूनीक है ओर पूर्णतया NCERT पर आधारित आपके ब्लड ग्रुप से RELATED सभी सवालों जो नीचे दिए गए है उनके जवाब इस ब्लॉग मे मिल जायेगे –

  • रक्त समूह के प्रकार(Types of Blood Group)
  • ABO रक्त समूह के प्रकार(Types of ABO-Blood Group)
  • Rh-रक्त समूह क्या होता है? (Rh-Blood Group)
  • एंटीजन क्या हिट है ?(What is Antigen)
  • एंटीबॉडी क्या होता है ?(What is Antibody)

Types Of Blood Group in Hindi –

रक्त समूह निम्न दो प्रकार के होते है –

 (1)  ABO रक्त समूह            (2) Rh-रक्त समूह 

(1) ABO रक्त समूह के प्रकार    

मनुष्य के रुधिर में पाई जाने वाली आरबीसी में ए तथा बी प्रकार के एंटीजन एवं रुधिर प्लाज्मा में a (antibody A) तथा b (antibody B) प्रकार के एंटीबॉडीज पाए जाते हैं यह निम्न प्रकार के होते है –

  1. A-रक्त समूह
  2. B-रक्त समूह
  3. AB-रक्त समूह
  4. O-रक्त समूह                             
रुधिर वर्ग RBC मे उपस्थित एंटीजनस प्लाज़्मा मे उपस्थित एंटीबॉडी
A A b
B B a
AB A व B दोनों अनुपस्थित
O अनुपस्थित a व b दोनों

 

 https://littlestareducator.com/types-of-blood-group-in-hindi/

  • A – रुधिर वर्ग के मनुष्यों की RBC मे एंटीजन A तथा प्लैज़्म मे एंटीबॉडी  b  होता है |
  • B – रुधिर वर्ग के मनुष्यों की RBC मे एंटीजन B तथा प्लैज़्म मे एंटीबॉडी  a  होता है |
  • AB -रुधिर वर्ग के मनुष्यों की RBC मे एंटीजन A व  B तथा प्लैज़्म मे कोई भी एंटीबॉडी  नहीं  होती है
  • O – रुधिर वर्ग के मनुष्यों की RBC मे कोई भी एंटीजन नहीं पाया जाता है तथा प्लैज़्म मे एंटीबॉडी a व b होती  है |

यदि A -रुधिर वर्ग के मनुष्य की एंटीबॉडी b के संपर्क में B- रुधिर वर्ग की एंटीबॉडी a आ जाए तो RBC में समूहन (agglutinins) की क्रिया हो जाती है अर्थात रुधिर का थक्का जम जाता है जिससे रक्त बह नहीं पाता है और मनुष्य की मृत्यु हो जाती हैं |

(2) Rh-रक्त समूह के प्रकार 

  • Rh  का अर्थ होता है रिहिसिस अर्थात इस रक्त समूह की खोज मकाका रिहिसिस नामक बंदर  में लैंडस्टिनर  व वीनर  ने की
  • आरएच रक्त समूह विश्व के 80% लोगों में और भारत के 90% लोगों में पाया जाता है
  • जिन लोगों में Rh एंटीजन पाया जाता है उन्हे  Rh positive(Rh+) और जिनमें Rh एंटीजन नहीं होता है उन्हें Rh negative(Rh-) कहां जाता है |
  •                                                                                                                                                सामान्य Rh नेगेटिव व्यक्ति के रुधिर  में कोई भी एंटीबॉडी नहीं होती है जो Rh कारक के साथ प्रतिक्रिया कर सकें परंतु यदि यह Rh पॉजिटिव के संपर्क में आजाये तो और इसमे वाले Rh एंटीबॉडी उत्पन्न हो जाती है  |
  • यदि Rh नेगेटिव व्यक्ति का रुधिर प्रथम बार Rh पॉजिटिव व्यक्ति के रुधिर में प्रवेश कराया जाता है तो प्रथम संचरण में कोई भी एंटीजन एंटीबॉडी प्रतिक्रिया नहीं होती है परंतु यदि उसी ग्राही को कुछ दिनों या कुछ वर्षों के पश्चात पुनः Rh पॉजिटिव का संचरण करवाया जाता है तो एंटीबॉडी की संख्या अधिक होने के कारण ग्राही के शरीर में एंटीजन एंटीबॉडी प्रतिक्रिया होने लगती है जिससे एग्लुटिनेसन(समूहन) हो जाता है और मृत्यु हो सकती हैं |

एरिथ्रोब्लास्टोसिस फीटेलीस (गर्भ रक्ताणु कोरकता) बीमारी में क्या होता है?  

  •  जब Rh पॉजिटिव पुरुष का विवाह है Rh नेगेटिव स्त्री  के साथ करवाया जाता है तो माता के गर्भ में पल रहे प्रथम भ्रूण Rh पॉजिटिव होता है
  • अपरा द्वारा पृथक रहने के कारण भ्रूण का Rh पॉजिटिव एंटीजन माता  को प्रभावित नहीं करता है लेकिन प्रसव के समय माता के Rh निगेटिव रक्त से भ्रूण की Rh पोजिटिव रक्त के संपर्क में आने की संभावना रहती है इसमें प्रथम प्रसव क्रिया तो आसानी से हो जाती है लेकिन इसके बाद माता के शरीर में एंटीबॉडी बनना प्रारंभ हो जाता है
  • जब माता दूसरा गर्भ धारण करती है तो Rh positive भ्रूण और माता के शरीर में होने के कारण आरबीसी नष्ट हो सकती है पीलिया हो सकता है एवं खून की कमी हो सकती है जिससे भ्रूण की मृत्यु हो सकती है यह स्थिति  एरीथ्रोब्लास्टोसिस फीटेलीस  कहलाती है ।

यह भी जाने –

BLOOD TRANSFUSION/ रक्त आधान  क्या है ?

  • एक व्यक्ति  के शरीर से ब्लड को दूसरे व्यक्ति के शरीर मे डालने की प्रक्रिया को रक्त आधान (Blood Transfusion) कहा जाता है |
  • 18 वीं शताब्दी में फ्रांस में इंग्लैंड में रुधिर आधान के प्रयास किए गए लेकिन सफलता नहीं मिली इसमें किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती थी तो कोई बच जाता था

 ऐन्टिजन / प्रतिजन क्या होता है?

  • वे विशेष प्रकार के बाह्य पदार्थ जैसे जीवाणु , विषाणु , आविष , रासायनिक पदार्थ आदि के साथ शरीर में प्रवेश कर प्रतिरक्षा तंत्र को एंटीबॉडी बनाने के लिए उद्दीप्त करते है |
  • एंटीजन रोगों से लड़ने की क्षमता उत्पन्न करते हैं |

 एंटीबॉडी / प्रतिरक्षी क्या होता है?

प्रतिरक्षी एक विशेष प्रकार के प्रोटीन अनु है जो शरीर में प्रवेश करने वाले अनचाहे पदार्थ प्रतिजन की क्रिया के फलस्वरूप प्रतिरक्षा तंत्र द्वारा उत्पन्न किए जाते हैं जिन्हें प्रतिरक्षी या एंटीबॉडी कहा जाता है |

एंटीबॉडी के कार्य –

  • एंटीबॉडी एक विशेष प्रकार के एंटीजन से ही बंध बना सकता है यदि ऐसा नहीं होता है तो वह एंटीजन एंटीबॉडी द्वारा नष्ट कर दिया जाता है
  • ये शरीर की रक्षा करती है एवं अनचाहे हानिकारक युक्त पदार्थों को नष्ट कर देती है |
  • प्रतिरक्षी में स्मृति का गुण भी पाया जाता है जो संक्रमण योग्य पदार्थ का शरीर में दोबारा प्रवेश करने पर इसे आसानी से नष्ट कर देती है |

रक्त समूह की खोज किसने की ?

  • A , B , AB रक्त समूह की खोज 1990 मे  कोर्ल लैंडस्टीनर ने की
  • O-रक्त समूह की खोज डिकास्टेलो व स्टरली ने की ।
  • Rh-रक्त समूह की खोज लैंडस्टीनर व वीनर  ने 1940 मे मकाका रीसस नामक बंदर मे की |

एग्लुटिनीनस (agglutinins)किसे कहते है ?

रुधिर में पाए जाने वाले एंटीजन और एंटीबॉडी को सम्मिलित रूप से एग्लुटिनीनस  कहा जाता है

IMPORTANTS FACTS –

AB रक्त समूह को सार्वत्रिक ग्राही रक्त समूह क्यों कहा जाता है?

एबी रक्त समूह को सार्वत्रिक ग्राही इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसमें कोई एंटीबॉडी नहीं होती है इसलिए यह दूसरे रक्त समूह के साथ एंटीजन- एंटीबॉडी क्रिया नहीं करता है एवं यह सभी प्रकार के रक्त को ग्रहण कर लेता है |

O-रक्त समूह को सार्वत्रिक दाता रक्त समूह क्यों कहते हैं?

  • O-रक्त समूह में कोई भी एंटीजन नहीं होता है इसलिए यह अन्य रक्त समूह के साथ एंटीजन-एंटीबॉडी क्रिया नहीं करता है |
  • इस रक्त समूह का रक्त अन्य सभी रक्त समूह वाले व्यक्तियों  को दिया जा सकता है |
क्र. स. रक्त समूह दाता रक्त समूह ग्राही
1 A A , AB
2 B B , AB
3 AB AB
4 O O,A,B,AB

धन्यवाद दोस्तों आप सभी हिंदी रीडर्स के लिए मैं इसी तरह की महत्वपूर्ण सूचनाएं उपलब्ध करवाता रहूंगा

यदि आप को कोई भी कमी इस ब्लॉग में नजर आ रही हो तो जरूर कमेंट करे

 

 

5 thoughts on “Types of blood group in hindi – ABO and Rh- Blood Group”

  1. Военный адвокат Запорожье. Бесплатная консультация
    зашита прав во время сзч
    — это опытный специалист имеющий высшее юридическое образование, сдавший квалификационный государственный экзамен на право осуществления адвокатской деятельностью и специализирующийся в основном на военных делах
    Вся правовая помощь военного адвоката осуществляется в индивидуальном порядке, грамотно, четко и в соответствии с действующими нормативно-правовыми актами.

    Мы как военные юристы действуем не против органов Украины или министерства обороны, мы действуем во благо Украины — наших защитников и граждан Украины, которые попали в тяжелую жизненную ситуацию связанную с незнанием военного и действующего законодательства.

    Поскольку, проявив патриотизм и чувство гражданской ответственности – став на защиту суверенитета страны, граждане участвующие и помогавшие в обороне после, становятся никому не нужными, особенно если военнослужащий стал инвалидом, потерял часть тела или конечность, и не может самостоятельно защитить свои права. Именно в таких ситуациях мы как военные адвокаты приходим на помощь, и добиваемся в установленном законом порядке справедливости, необходимых выплат, установление статуса, оформление пенсий, льгот и т.п.

    Тоже касается, и получение отсрочки от мобилизации, когда например, безосновательно призывают сына у которого отец инвалид 2 группы, или мать прикованная из-за тяжелой болезни к постели, и требующая постороннего ухода. Это же относится и к военнослужащим, рапорта которых не регистрируются в канцелярии воинской части и полностью игнорируются, под прикрытием суеты боевых действий..

    Именно в таких ситуациях, мы приходим на помощь и с помощью ЗАКОННЫХ методов правовой защиты, используя свой опыт полученный при ведении аналогичных военных дел добиваемся справедливости.

Leave a comment