घर पर पढ़ाई करने का तरीका – 10 मनपसंद तरीके

  • घर पर रहकर पढ़ाई करना यानी युद्ध में जंग जीतने के बराबर है हालांकि इतना भी कठिन नहीं है घर पर आने वाली परेशानियां जैसे रिश्तेदारों का आ जाना, मिलने वाले लोगों का आना-जाना छोटे बच्चों द्वारा पढ़ाई में बाधा पहुंचाना, घरवालों का हमारे प्रति अति प्यार प्रेम, घर में पढ़ाई के लिए अलग से कमरा ना होना आदि जैसी अनेक बाधाएं हैं जो हमें पढ़ने नहीं देती है |
  • आज के इस ब्लॉग में हम जानेंगे की पढ़ाई करने का सही तरीका क्या है और घर पर पढ़ाई करने का तरीका क्या है?
  • यकीन मानिए दोस्तों यहां से आप कुछ नया सीख कर जाएंगे यहां आपको आसान Tips और Tricks बताई जा रही है जो आपकी सभी समस्याओं का समाधान करेंगी |

https://littlestareducator.com/घर-पर-पढ़ाई-करने-का-तरीका/

घर पर पढ़ाई करने का तरीका निम्न बिंदुओं के द्वारा बताया जा रहा है –

1. Distruction avoid Kare (मन को शांत रखे/ध्यान भटकाने से बचे) –

  • यदि आप सच में पढ़ाई करना चाहते हैं तो आपको सोशल मीडिया से दूर रहना होगा | पढ़ाई के दौरान 30-50 मिनट सोशल मीडिया का उपयोग आप मनोरंजन के लिए कर सकते है |
  • यदि आप दो-तीन घंटे या इससे अधिक समय तक इसका उपयोग लेते हैं तो यकीन मानिए आप इसके आदि हो चुके है यह एक कीड़ा है जो लंबे समय तक उपयोगलेने से हमारे मन को पसंद आने लगता है और मन भी फिर इसे छोड़ना नहीं चाहता जब तक एग्जाम ना लग जाए तब तक इस तरह के डिस्ट्रक्शन से दूर रहें |

Distruction avoid करने के तरीके –

A. Study Environment (पढ़ाई का माहौल)

पढ़ाई करने के लिए एक शांत जगह का चुनाव करें वह चाहे आपकी लाइब्रेरी हो,आपके पढ़ने का अलग कमरा हो या कोई भी वह जगह जो आपकी पढ़ाई के लिए अनुकूल हो | ध्यान रहे अपने पास ऐसी कोई भी चीज ना रखे जो आपको पढ़ाई मे परेशानी पहुंचाए अन्यथा आप को जो करना ह आप उससे भटक जाएंगे |

B. कार्य सूची बनाएं (To Do List)

सोने से पहले अगले दिन‌ के कार्यों की सूची बनाएं और यह भी निश्चित करें कि किस कार्य को कितना समय देना है | दिन की शुरुआत से ही व्यवस्थित तरीके से एवं अनुशासन में रहकर सभी कार्यों को पूरा करने मैं जुट जाएं कार्य की सूची बनाना आपके लिए बेहद असरदार साबित होगा |

C. काम करने का पक्का इरादा/Self-Discipline

खुद को अनुशासन मे रखें और लक्ष्यको ध्यान में रखते हुए जो भी कार्य आपने निश्चित किए हैं उन्हें पूरा करें कोई बहाना ना बनाएं जो भी चीज आपको डिस्टर्ब कर रही हैं उन्हें अपने रास्ते से ही हटा दे

2. आराम करना (Breaks)

लगभग 50 मिनट के अंतराल पर आप 5 से 7 मिनट का ब्रेक ले सकते हैं ब्रेक लेने से हमारे मन की थकान भी मिटती है और हमारी पढ़ने के प्रति एकाग्रता भी बनी रहती है

ब्रेक लेने के दौरान आप निम्न activities कर सकते हैं-
  • एक्सरसाइज करना या बॉडी को स्ट्रेच करने से आपका माइंड फ्रेश होता है और एकाग्र क्षमता(एक जगह ध्यान) भी बढ़ती है यकीन ना हो तो करके देख लो इतनी सी करनी है कि एक बार में आपका हृदय की धड़कन बढ़‌ जाए |
  • आपका पसंदीदा गाने सुन सकते हैं यह मन को फ्रेश रखने की अच्छी activity है
  • अपने आसपास के जगह पर जल्दी-जल्दी घूम सकते हैं |
  •  दिमाग से जुड़े खेल जैसे puzzle यह अन्य खेल खेलने से आपका mind active रहेगा |
  • परिवारके साथ बातें करना,हंसी मजाक करना जैसी गतिविधियां भी आपकी एकाग्र क्षमता को बढ़ाने और थकान दूर करने में मदद करती हैं |
  • अगर आपको ज्यादा थकान महसूस होती है तो आप power nap (थोड़े समय की नींद) ले सकते हैं |
  • प्रत्येक ब्रेक के बीच में थोड़ा-थोड़ा पानी जरूर पीते रहे |

3. Time management (समय व्यवस्थित)

आप पूरे दिन का एक अच्छा टाइम मैनेजमेंट सूची बनाए जिसमें आप अलग-अलग सब्जेक्ट के पढ़ने के समय को निर्धारित करें |

Time manage करने के तरीके –

  • टाइम मैनेज करनेके लिए आप अपने अलग-अलग Subject के लिए समय निर्धारित करें ताकि आपका ध्यान समय के अनुसार इन कार्यों को पूरा करने पर रहे |
  •  रोज अपना लक्ष्य बनाएं किआपको किस सब्जेक्ट में किस टॉपिक को कितना समय देना है |
  •  रोज अपने कार्यों की सूची बनाए और उन्हें प्राथमिकता के आधार पर अर्थात कौनसा कार्य सबसे महत्वपूर्ण है और किसे  पहले करना है |
  • कठिन टॉपिक को पढ़ने के लिए ऐसे समय का चयन करें जिसमें आपका मन बिल्कुल एक जगह केंद्रित (Focused) हो और उस समय आपके शरीर में एनर्जी भी ज्यादा हो कंसंट्रेशन पावर भीज्यादा रहे अर्थात यह जैसे सुबह का समय हो सकता है |
  • पूरे दिन की progress को शाम को review (देखे) करें और अगले दिन के लिए improvement plan करें
  • थोड़ा समय आप अपनी hobbies के लिए भी निकाले जिसमें आप ज्यादा डिस्टर्ब ना हो | इससे आप खुश रहेगे ओर तनाव भी नहीं होगा |

4. Revision planning (दोहरान योजना)

अपना पहले का पढ़ा हुआ Revise (दोहरान) करना ताकि वह आपकी मेमोरी मे बना रहे | भले ही कम पढ़ ले लेकिन रिवीजन रोजाना करें पहले का पढ़ा हुआ आपकी मेमोरी में बना रहेगा और भूलने की समस्या भी नहीं होगी

Revision करने के तरीके –

A. Daily revision 

रोजाना रिवीजन के लिए एक शेडुल (प्लान) बनाए ओर उसमे थोड़ा सा समय हर दिन अलग अलग सब्जेक्ट के लिए रखे नोट्स बनाए ओर Important Points को Highlite करे जिससे आपको रिवीजन मे मदद मिलेगी या रोजाना पढ़े हुए material को कुछ समय निकालकर जल्दी से रिवीजन करें जिससे आपको जल्दी याद होगा और लंबे समय तक याद रहेगा |

B. Weekly revision 

इस तरह के रिवीजन के लिए आप सप्ताह मे एक दिन को चुने और हर सब्जेक्ट के महत्वपूर्ण टॉपिक का जल्दी से रिवीजन करे ओर कठिन टॉपिक के रिवीजन के लिए शॉर्ट नोट्स तैयार कर के उनका बार बार रिवीजन करे महत्वपूर्ण सूत्रों ओर तथ्यों को याद रखने के लिए फ्लैश कार्ड का इस्तेमाल करे  सप्ताह भर आपने जो भी पढ़ा है उसे एक बार में रिवीजन करें इससे आपको clearity मिलेगी और लॉन्ग टाइम तक याद रहेगा |

C. Flash cards

  • फ्लैश कार्ड छोटे रंगीन कागज के टुकड़े होते हैं जो आपको बाजार में आसानी से मिल जाएंगे
  • इन पर आप महत्वपूर्ण बिंदुओं, परिभाषाओं, सूत्रों, व Equation  को लिखकर अपने पढ़ने के स्थान पर चिपका सकते हैं यह आपको तुरंत रिवीजन करने में मदद करेगा

D. Mind Maps

  • यदि आप Mind map बनाकर पढ़ते हैं तो यह आपकी पढ़ाई‌‌ को प्रभावी बनाने का बेहद असरदार बिंदु साबित हो सकता है | इसमे हम किसी भी लेसन या टॉपिक को रंगीन पेन,पेंसिल एवं चित्रों की सहायता बड़े पेज पर इस तरह लिखते है की वह एक Tree/पेड़ की जैसे दिखाई देता है |
  • यह short notes की तरह ही होता है लेकिन इसमें रंगीन चित्रों का भी प्रयोग किया जाता है |

Mind Map कैसे बनाए? जानिए आसान तरीके –

  • Center Topic – जिस टॉपिक पर हमें माइंड मैप बनाना है उसे पेज़ के center (बीचों बीच) में लिखते हैं |
  • शाखाएं(Branches) – अब centre point से या टॉपिक से जुड़ी हुई Branches को लिखते हैं और हर Branches पर एक सब्जेक्ट टॉपिक या आइडिया लिखते हैं ।
  • Sub-Branches – अब हर sub-topic से आप या तो Sub-Branches बना सकते हैं या फिर इससे जुड़ी जानकारी लिख सकते हैं
  • Colours and Symbols – Mind Map में अलग-अलग रंगों का प्रयोग करें ताकि वह आकर्षक और प्रभावी बने जिससे पढ़ने में भी मजा आएगा |
  • Keywords– long sentence के लिए या full forms कोई याद रखने के लिए आप Short Form या Tricks का Use करें |
  • Connectivity – Mind Map इस तरह बनने की आपको topics समझने में आसानी रहे अर्थात टॉपिक एक दूसरे से connect हो
  • मुख्य बिंदु को बड़ा लिखे -मुख्य एवं महत्वपूर्ण बिंदुओं को रंगीन कलरों से बड़ा दर्शाए |
  • चित्रोंका प्रयोग करें – विषयसे जुड़ी हुई रंगीन चित्रों का प्रयोग करें जो आपको सभी कठिन से कठिन विषय को भी समझने में आसान बनाएगा |

Online mind map बनाने के Tools ⇒

A. Mind meister     B. X mind    C. Bigger Plate    D. Coggle   E. Free Mind    F. Simple Mind

पढ़ा हुआ जल्दी याद करने के 10 आसान तरीके 

5. Teach someone (किसी को पढ़ायें) –

जब आप किसी विषय पर दूसरों को पढ़ाएंगे तो आपको ज्यादा याद होगा और आपका टॉपिक भी अच्छे से क्लियर होगा यह आपकी पढ़ाई को बेहतर बनाने का बेहद असरदार बिंदु हो सकता है क्योंकि जब हम किसी भी टॉपिक को समझ कर दूसरों के सामने एक्सप्लेन करते हैं(समझाते है) या अकेले में ही थोड़ी तेज आवाज में खुद को समझाने की कोशिश करते हैं जैसे कि हमारे टीचर समझाते हैं तो हमारी उसे टॉपिक के प्रति समझदारी बढ़ती है और हमें आसानी से याद हो जाता है

6. Self-Quizzing (खुद प्रश्न बनाएं) –

  • आप खुद अपने विषय से संबंधित प्रश्न बनाएं और उनके आंसर करें इससे आपको पता चल जाएगा कि आप कितना पानी में है अर्थात आपको कितना याद है |
  • जब आप खुद प्रश्न बनाएंगे तो आप देखेंगे की  आपको ज्यादा याद होने लग गया है और आप के टॉपिक भी क्लियर होने लग गए है यकीन मानिए एक बार करके जरूर देखे |

7. Group study (समूह मे पढ़ाई) –

यह एक अच्छा तरीका है जिससे आप अपने दोस्तों या टीचर्स के साथ किसी भी टॉपिक पर Discus करके अच्छे से तैयारी कर सकते हैं बातचीत करने से हमें टॉपिक आसानी से समझ आते हैं और उन्हें हम जल्दी भूल नहीं पाते हैं |

Group Study Kaise Kare इसके लिए आप नीचे दिए गए बिंदुओं को ध्यान से पढ़ें –

  • ग्रुप में पढ़ने लिए ऐसे साथी का चयन करे जो आपके साथ Study करने के लिए तैयार हो |
  • ग्रुप स्टडी के लिए आप संबंधित स्टडी मैटेरियल जैसे notes, textbooks, reference books आदि साथ में ले और Previous Year Questions  भी शामिल करें |
  • ग्रुप में शामिल सभी व्यक्तियों को टॉपिक Explain करने का मौका दे इससे आप अच्छी तरह से समझ पाएंगे और दूसरों को भी मदद मिलेगी |
  • ग्रुप स्टडी में आपको किसी भी प्रकार का कोई Disturb ना हो इसके लिए शांत माहौल में बैठे मोबाइल फोन को दूर रख दे या साइलेंट कर दे |
  • ग्रुप स्टडी का मुख्य उद्देश्य अपनी समस्या को सुलझाना और पढ़ना होना चाहिए ना की बातचीत और मस्ती मजाक अर्थात अपने उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए पढ़ाई करनी चाहिए उद्देश्य से नहीं भटकना चाहिए |
  • स्टडी सेशन के अंत में रिवीजन करें कि आपने आज क्या सीखा इससे आपकी मेमोरी स्ट्रांग होगी और भूलने की समस्या भी नहीं होगी
यह भी जानिए –

8. Summarization (निष्कर्ष) –

प्रत्येक बार पढ़ाई पूरी करने के बाद आपने जो भी पढ़ा है उसकी छोटा नोट्स बनाएं यह आपकी Revision मदद करेगा |

9. Study material

  • Board exam syllabus के अनुसार या फिर आप जिस भी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं उससे संबंधित आपके पास पढ़ने की सामग्री होनी चाहिए |
  • NCERT की किताब पढ़े और previous year question solve करें |

10. Sample paper solve

  • आप अपनी परीक्षा से संबंधित ‌ syllabus पर आधारित पेपरो को हल करें ‌ पेपर उतने ही समय में हल करें जितना समय आपको परीक्षा में मिलने वाला है |
  • बोर्ड परीक्षाओंके लिए जैसे डेस्क वर्क आती है वह अन्य परीक्षाओं के लिए भी कई प्रकार की गाइड आती है उनका इस्तेमाल करें |

धन्यवाद दोस्तों अंत में मैं यही कहना चाहूंगा कि यदि आप घर पर रह कर पढ़ाई करना चाहते हैं और अच्छा रिजल्ट लाना चाहते हैं तो आपको परीक्षा के पैटर्न को समझना होगा और पिछले 5-10 वर्षों में आए प्रश्न पत्रों को भी देखना होगा तभी आप सभी से अच्छे नंबर ला सकते और सफलता प्राप्त कर सकते हैं |

मेरी शुभकामनाएं आप सभी के साथ है |